Alone shayari in hindi 2023 | अकेलापन शायरी | Alone shayari 2023

Alone shayari in hindi 2023 : हेल्लो दोस्तों क्या आप भी किसी के प्यार में हैं ! और वो शख्स आपको छोड़ कर चला गया है ! और आप बहोत ही अकेलापन महसूस कर रहे हैं ! तो हम आपके लिए लेकर आये हैं alone shayari यानी अकेलापन शायरी वो भी hindi में जिसे पड़कर आप अपने अकेलेपन से बाहर आ सकते हैं ! और दोस्तों अगर हमारी द्वारा लिखी गयी पोस्ट पसंद आ जाये तो आप ज्यादा से ज्यादा इस पोस्ट को उन लोगों तक पहुचाये जो अकेलापन महसूस कर रहे हैं !

Alone shayari in hindi 2023

 

Alone shayari in hindi 2023

जानता पहले से था मैं,लेकिन एहसास अब हो रहा है,

अकेला तो बहुत समय से हूं मैं,पर महसूस अब हो रहा है।

janta pahle se tha , lekin ahsaas ab ho raha hai

akela to bahot samay se hu , par mahsoos ab ho raha hai

 

हज़ारो बातें मिल कर एक राज़ बनता है,

सात सुरों के मिलने से साज़ बनता है,

आशिक़ के मरने पर कफ़न भी नहीं मिलता,

और हसीनाओ के मरने पर ताज़ बनता है।

hajaron baten mil kar ek raj banta hai

saat suron ke milne se saaj banta hai

aashiq ke marne par kafan nahi milta

or haseenayon ke marne par taaz banta hai

 

मुझको मेरे अकेलेपन से अब शिकायत नहीं है,

मैं पत्थर हूँ मुझे खुद से भी मुहब्बत नहीं है।

mujhko mere akelepan se shikayat nahi hai

mai patthar hu mujhe khud se mohbbat nahi hai

 

मेरी आवाज उसे सुनाई नहीं देती,

अब तो कोई उम्मीद भी दिखाई नहीं देती,

एहसास उसे और सब लोगों का है,

बस मेरी ही तन्हाई उसे दिखाई नहीं देती।

meri avvaj use sunai nahi deti

ab to koi ummed bhi dikhai nahi deti

ahsaas use or sab logon ka hai

bas meri hi tanhai use dekhai nahi deti

 

ज़िन्दगी के ज़हर को यूँ पी रहे है,

तेरे प्यार के बिना यूँ जिंदगी जी रहे है,

अकेलेपन से तो अब डर नहीं लगता हमें,

तेरे जाने के बाद यूँ ही तन्हा जी रहे है।

jindagi ke jahar ko yu pee rahe hain

tere pyaar ke bina yu jindagi ji rahe hai

akelepan se to ab dar nahi lagta hamen

tere jaane ke baad yu tanha jee rahe hain

 

ज़िंदगी जीते जीते अपनों से मिला मैं,

अपने छोड़ गए मुझे तनहा तो उस दिन खुद से भी मिला मैं!

jindagi jeete jeete apnon se mila me

apne chod gaye mujhe tanha to us din khud se mila mai

 

ना जाने क्यूँ खुद को अकेला सा पाया है,

हर एक रिश्ते में खुद को गँवाया है,

शायद कोई तो कमी है मेरे वजूद में,

तभी हर किसी ने हमें यूँ ही ठुकराया है।

na jane kyu khud ko akela sa paya hai

har ek riste me khud ko gavaya hai

shayad koi to kami hai mere vajood me

tabhi har kesi ne hame yu hi thukraya hai

Feeling alone shayari

Alone shayari in hindi 2023

 

चाहे जितना भी, किसी को अपना बना लो,

वो एक दिन आपको, गैर महसूस करा ही देते हैं।

chahe jitni bhi kesi ko apna bana lo

vo ek din aapko gair mahsoos kara hi dete hain

 

मेरी जंग थी वक्त के साथ,

फिर वक्त ने ऐसी चाल चली,मैं अकेला होता गया।

meri jang thi vakt ke sath

fir vakt ne aise chal chali me akela hota gaya

 

आगोश में ले लो मुझे बहुत अकेला हूँ मैं,

बसा लो दिल की धड़कन में अकेला हूँ मैं,

जो तुम नहीं जिंदगी में तो फिर कुछ नहीं,

समा जाओ मुझमें, कि अकेला हूँ मैं।

aagosh me le lo mujhe bahot akela hu me

basa lo dil ki dhadkan me akela hu me

jo tum nahi jindagi me to fir kuch nahi

sama jao mujhme ki akela hu me

 

चुभते हुए ख्वाबों से कह दो अब आया ना करे,

हम तन्हा तसल्ली से रहते है बेकार उलझाया ना करे।

chubhte huye khvabon se kah do ab aaya na kare

ham tanha tasalli se rahte hai bekar uljhaya na kare

 

जो कभी मेरी जिंदगी का हिस्सा हुआ करते थे,

आज उन्हें मेरे अकेलेपन का अहसास तक नहीं है।

jo kabhi meri jindagi ka hissa hua karte the

aaj unhe mere akelepan ka  ahsaas tak nahi hai

 

ना आंसुओ से छलकते हैं, ना कागज़ पर उतारते हैं,

दर्द कुछ होते हैं ऐसे जो बस भीतर ही भीतर पालते है।

na aashuon se chhalakte hai na kagaj par utarte hai

dard kuch hote hai aise jo bas bheetar hi bheetar palte hai

2 line alone shayari in hindi

ये भी पड़ें – 

Alone shayari in hindi 2023

 

घिरा हुआ हूं लोगो से,

फिर भी अकेला हूँ मैं।

ghira hua hu logon se

fir bhi akela hu me

 

जिन्हें नींद नहीं आती उन्हीं को मालूम है,

सुबह आने में कितने जमाने लगते हैं।

jinhe need nahi aati unhi ko maloom hai

subah aane me kitne jamane lagte hai

 

तुम्हारे बगैर ये वक्त ये दिन और ये रात,

गुजर तो जाते हैं मगर गुजारे नहीं जाते।

tumhare bagair te vakt ye din or ye raat

guzar to jaate hai magar guzaare nahi jaate

 

अजीब सी वेताबी रहती है तेरे बिना,

रह भी लेते हैं और रहा भी नहीं जाता।

ajeeb si betaabi rahti hai tere bina

rah bhi lete hai or raha bhi nahi jata

 

दिल तो पहले होता था सीने में,

अब तो दर्द लिए फिरते है।

dil to pahle hota tha seene me

ab to dard liye firte hai

 

ना जाने कैसी नज़र लगी है ज़माने की,

वजह ही नहीं मिल रही मुस्कुराने की।

na jane kaise najar lagi hai jamane ki

vajah hi nahi mil rahi muskurane ki

 

कुछ कर गुजरने की चाह में कहाँ-कहाँ से गुजरे,

अकेले ही नजर आये हम जहाँ-जहाँ से गुजरे।

kuch kar gujarne ki chah me kaha kaha se gujare

akele hi najar aaye ham jaha jaha se gujare

 

तन्हाईयाँ कुछ इस तरह से डसने लगी हमें

हम आज अपने पैरों की आहट से डर गए।

tanhai kuch es tarah se dasne lagi hame

ham aaj apne pairo ki aahat se dar gaye

 

अकेले रोना भी क्या खूब कारीगरी है,

सवाल भी खुद के होते है और जवाब भी खुद के।

akele rona bhi kya khoob karigari hai

savaal bhi khud ke hote hai or jabaab bhi khud se

 

तेरे बगैर इस मौसम में वो मजा कहाँ,

काँटों की तरह चुभती है बारिश की बूँदें।

tere bagair es mousam me vo maza kahan

katon ki tarah chubhati hai barish ki boonden

Tanhai shayari / तन्हाई शायरी

Alone shayari in hindi 2023

 

तेरी याद में ज़रा आँखें भिगो लूँ

उदास रात की तन्हाई में सो लूँ,

अकेले ग़म का बोझ अब संभलता नहीं,

अगर तू मिल जाये तो तुझसे लिपट कर रो लूँ।

teri yaad me jara aankhen bhigo lu

udas raat ki tanhai me so lu

akele gam ka bojh ab  sabhalta nahi

agar tu mil jaye to tujhse lipat kar ro lu

 

लोग कहते है दुःख-दर्द बुरे होते है,

जब-जब आते है सिर्फ और सिर्फ रुलाते है,

मगर मैं कहता हु दुःख-दर्द अच्छे होते है,

जब जब आते है कुछ ना कुछ नया सिखात्ते है।

log kehte hai dukh – dard hote hai

jab – jab aate hai sirf or sirf rulate hai

magar me kahta hu dukh dard achhe hote hain

jab jab aate hain kuch na kuch naya sikhate hain

 

अजीब सा है मेरा अकेलापन,

अब ना किसी के आने की खुशी है

और ना किसी के जाने का डर।

ajeeb sa hai mera akelapan

ab na kesi ke aane ki khushi hai

or na kesi ke jane ka dar

 

जिंदगी में किसी के बिना कुछ रुक तो नहीं जाता

लेकिन हां जिंदगीअधूरी जरूर हो जाती है।

jindagi me kesi ke bina kuch ruk to nahi jata

lekin ha jindagi adhuri jarur ho jati hai

 

हमे भूलने की वो बात करते हैं,

पूछो ज़रा हम कितना याद करते हैं,

चेहरे पे हँसी का दिखावा हैं,

मगर तन्हाई में आंसुओ से फरियाद करते हैं।

hame bhunle ki vo baat karte hai

pucho jara ham kitna yaad karte hain

chehare pe hashi ka dikhava hai

magar tanhai me aanshuon se fariyaad karte hai

 

अकेलेपन से सीखी है,मगर बात सच्ची है,

दिखावे की नजदीकयों से हकीकत की दूरियाँ अच्छी है।

akelepan se seekhi hai , magar baat sachhi hai

dikhave ki najdikiyon se hakeekat ki dooriyan achhi hain

 

किसी को मोहब्बत की सच्चाई मार डालेगी,

किसी को प्यार की गहराई मार डालेगी,

करके मोहब्बत कोई नहीं बच पायेगा,

जो बच गया उसे भी तन्हाई मार डालेगी।

kesi ko mohbbat ki sachhai maar dalegi

kesi ko pyar ki gahrai maar dalegi

karke mohbbat koi nahi bach payega

jo bach gaya use tanhai maar dalegi

 

खुशियां ना जाने जिंदगी से कहां खो गई,

तनहाई में रहने की अब हमें आदत सी हो गई है।

khushiyan na jane  jindagi se kaha kho gayi

tanhai me rahne ki ab aadat si ho gayi hai

 

कभी पहलू में आओ तो बताएँगे तुम्हें,

हाल-ए-दिल अपना तमाम सुनाएँगे तुम्हें,

काटी हैं अकेले कैसे हमने तन्हाई की रातें,

हर उस रात की तड़प दिखाएँगे तुम्हें।

kabhi pahlu me aao to batayange tumhe

haal e dil apna tamaam sunayenge tumhe

kati hai akele kaise hamne tanhai ki raate

har us raat ki tadap dikhayenge tumhe

Alone shayari for girl

Alone shayari in hindi 2023

 

जो रिश्ते बड़ी खामोशी से टूट गए हैं,

उन रिश्तो के लिएअब मैं शोर नहीं करूंगा।

jo riste badi khamoshi se tut gaye hai

un riston ke liye ab me shor nahi karunga

 

हम जैसे तन्हा लोगों काअब रोना क्या मुसकाना क्या,

जब चाहने वाला कोई ना हो,तो जीना क्या मर जाना क्या!

ham jaise tanha logon ka ab rona kya muskurana kya

jab chahne wala koi na ho to jeena kya mar jana kya

 

दर्द मेरे दिल का किसने देखा है,

मुझे सिर्फ खुदा ने तड़पते देखा है,

हम तन्हाई में बैठकर रोते हैं,

महफ़िल में लोगों ने हमें हस्ते देखा है।

dard mere dil ka kisane dekha hai

mujhe sirf khuda ne tadaptedekha hai

ham tanhai me baithkar rote hain

mahfil me logon ne hame haste dekha hai

 

तेरे इश्क की यादें मुझे रोज सताती है,

यह खामोश तन्हाइयां मुझे बहुत डराती है !

tere ishq ki yaden mujhe roj satati hai

yah khamosh tanhai mujhe bahut darati hai

 

हम भी फूलों की तरह अक्सर तनहा ही रहते हैं,

कभी खुद से टूट जाते है,तो कभी कोई और तोड़ जाता है।

ham bhi phoolon ki tarah aksar tanha hi rahte hai

kabhi khud se toot jate hain kabhi koi or tod jata hai

 

अब अकेले जिंदगी की राहों में,तेरा कोइ काम नही

,खुद ही काट लेंगे गम ये जिंदगी,अब तेरा इस दिल में कोइ काम नही।

ab kele jindagi ki rahon me , tera koi kaam nahi

khud hi kaat lenge gam ye jindagi , ab tera es dil me koi kaam nahi

 

वो सिलसिले वो शौक वो ग़ुरबत ना रही,

फिर यूँ हुआ के दर्द में सिद्दत ना रही,

अपनी जिंदगी में हो गये मशरूफ वो इतना,

कि हमको याद करने कि फुरसत ना रही।

vo silsile vo shouk vo gurbat na rahin

fir yu hua ke dard me siddat na rahi

apni jindagi me ho gaye mashroof vo itna

ki hamko yaad karne ki fursat na rahi

 

बारिश की बूंदों के जैसा टपकता है मेरी आंखों से पानी,

तन्हा हो जाती हूं हर पल जब आए तेरी याद पुरानी।

barish ki booden ke jaisa tapakta hai meri aakhon se pani

tanha ho jati hai har pal jab aaye teri yaad purani

Alone shayari image

Alone shayari in hindi 2023

 

तन्हाई भी हम से तन्हा हो गयी,

मजबूरी भी हम से मजबूर हो गयी,

बचा क्या था अब जिंदगी में,

आखिर में मौत भी हम से बेवफ़ाई कर गयी।

tanhai bhi ham se tanha ho gayi

majboori bhi ham majboor ho gayi

bacha kya tha ab jindagi me

akhir me mout bhi ham se bebfai kar gayi

 

मेरे अकेलेपन को मेरा शौख ना समझो यारो,

बड़े ही प्यार से तोहफा दिया है किसी चाहने वाले ने।

mere akelepan ko mera shouk na samjho yaro

bade hi pyar se tohfa diya hai kesi chahne vale ne

 

क्या कहें बिन तेरे ये जिंदगी है कैसी,

दिल को जलती ये बेबसी है कैसी,

ना कह पाते है ना सह पाते है,

ना जाने तकदीर में लिखी ये आशिकी है कैसी !

kya kahe bin tere ye jindagi hai kesi

dil ko jalti ye bebsi hai kesi

na kah paate hai na sah pate hain

na jane takdeer me likhi ye aashiki hai kesi

 

गुजर जाती है जिंदगी,यूँ ही गुजर रहे हैं पल,

कोई हमसफ़र मिले ना मिले,तू अकेला ही चल।

guzar jati hai jindagi , yu hi gujar rahe hain pal

koi hamsafar mile na mile tu akela hi chal

 

और क्या लिखूं,अपनी जिंदगी के बारे में,

जो जिन्दगी हुआ करते थे वो ही बिछड़ गये।

or kya likhu apni jindagi ke baare me

jo jindagi hua karte the vo hi bichad gaye

 

किसी ने दिल जीत लिया,किसी ने दिल हारा था,

जो अकेला रह गया,बस वो दिल हमारा था।

kesi ne dil jeet liya , kesi ne dil hara tha

jo akela rah gaya bas vo dil hamara tha

 

आज फिर मुझे वो ख़याल आया,

दर्द में मैंने जिसे अपने ज़ेहन में पाया,

तड़प उठी पाने को फिर से तकदीर अपनी,

होश आया तो फिर खुद को तुमसे जुदा पाया।

aaj fir mujhe vo khayal aaya

dard se maine jise apne jahan me paya

tadap uthi pane ko fir se takdeer apni

hosh aaya to fir khud ko tumse juda paya

Leave me alone shayari in hindi

Alone shayari in hindi 2023

 

बदलते हुए लोगों के बारे में आखिर क्या कहूं मैं,

मैंने तो अपनी ही मोहब्बत को और का होते देखा है।

badalte huye logon ke baare me akhir kya kahu me

maine to apni hi mohbbat ko or ka hote dekha hai

 

सिर्फ दर्द ही मिला मुझे तेरे रहने से,

सुकून मिलता है मुझे अब अकेले रहने से।

sirf dard hi mila tujhe tere rahne se

sukun milta hai mujhe ab akele rahne se

 

जिंदगी ही समझ में नहीं आती बेवजह के झमेले में रहते है,

धोखा खाने से डरते है,इसलिए आज भी अकेले रहते है।

jindagi hi samajh me nahi aati  bebjah ke jhamele me rahte hain

dhokha khane se darte hai , isaliye aaj bhi akele rahte hai

 

मेरी एक ही ख्वाहिश थी सबको साथ आगे लेकर जाने की,

बस यही एक वजह बनी खुद अकेले ही पीछे रह जाने की।

mere ek hi khvaish thi sabko sath aage lekar jaane ki

bas yahi ek vajah bani khud akele hi pichhe jane ki

 

जो लोग सिर्फ सच्चा प्यार करना जानते हैं,

उन्हें बस अकेलेपन का साथ मिलता है।

jo log sirf sachha pyar karna jante hain

unhe bas akelepan ka sath milta hai

 

इस अकेलेपन में भी तुम्हारी  याद हर रोज आती है,

ना जाने कौन से लोन की किश्त हो तुम जिसे भरे जा रहे हैं।

is akelepan me bhi tumhari yaad har roj aati hai

na jane kon se loan ki kist ho tum jise bhare ja rahe hai

 

काश तू समझ सकती मोहब्बत के उसूलों को,

किसी की साँसों में समाकर उसे तन्हा नहीं करते।

lash tu samajh sakti mohbbat ke usoolon ko

kesi ki saanson me samakar use tanha nahi karte

 

स्टेशन जैसी हो गई है जिंदगी,

जहाँ लोग तो बहुत है,पर अपना कोई नहीं।

steshan jaise ho gayi hai jindagi

jahan log to bahut hain , par apna koi nahi

 

ये भी पड़ें – 

हेल्लो दोस्तो मेरा नाम है - Neeraj Guru और मैं neerajguru.com का Author हूँ | यहाँ मैं Technology से जुड़ी जानकारी हिन्दी मैं शेयर करता हूँ इसलिए आप neerajguru.com पर एक बार जाकर जरुर देखें - धन्यबाद

Sharing Is Caring:

Leave a Comment